About Us

About Us

इस ब्लॉग के बारे में : नमस्कार दोस्तों, सबसे पहले तो मैं आप से यही कहना चाहूंगा कि यह ब्लॉग उन लोगों के लिए है जो और भी बहुत कुछ जानना चाहता है और सीखना चाहता है', ''टेक्नोलॉजी'' के बारे में क्योंकि इस ब्लॉग में आपको सिर्फ और सिर्फ 'टेक्नोलॉजी' से संबंधित आर्टिकल्स और वीडियोस मिलेंगे।

इस ब्लॉग में आपको हर रोज  नए-नए आर्टिकल्स, वीडियोस मिलेंगे - जो कि ''कंप्यूटर, मोबाइल, टेलिकॉम, इंटरनेट, ऐप्स, टिप्स & ट्रिक्स और टेक्नोलॉजी से संबंधित खबरें'',  अगर आप हमारे साथ बने रहे तो।  जितने भी पुराना पोस्ट है हमारी साइट में, उनमें बदलाव आते ही अपडेट किया जाता है।

इस ब्लॉग के ब्लॉगार के बारे में: सबसे पहले तो आप सब का बहुत बहुत स्वागत करता हूं मेरे ब्लॉग में। दोस्तों, मेरा नाम है- 'सानवार हुसैन' और मैं 'Assam' की एक बहुत ही छोटा सा गांव से हूं। दोस्तों, अभी तक तो मैं एक छात्र हूं और मैं बैचलर डिग्री कर रहा हूं।

दोस्तों, आब मैं आपको बताने जा रहा हूं कि मैं इस रास्ते में कैसे आया और मुझे कितना टाइम लगा आने में , सुनकर आप भी थोड़ा इंस्पायर्ड हो जाएंगे -  

दोस्तों, मेरे पिताजी एक किसान है और उनके पास इतना पैसा नहीं है कि वह मुझे एक कंप्यूटर या मोबाइल खरीद कर दे सके-  लेकिन मुझ बड़ा शौक था कंप्यूटर और मोबाइल का, मैं जब दुकान पर देखता था कंप्यूटर, मोबाइल से लोग काम कर रहे हैं,  तब मुझे ऐसा लगता था कि शायद मेरे पास भी एक कंप्यूटर होता। माजे की बात यही है कि, मेरे राज्य में मैट्रिक एग्जाम में जिसको भी फर्स्ट डिवीज़न (60%) मिले, उसे सरकार की तरफ से एक लैपटॉप दिया जाता है। 

जब मैं क्लास 9th में था तभी से मैं सोच लिया था कि मुझे एक लैपटॉप लेना है सरकार की तरफ से और जब मै 10th में था तो मैं स्टडी किया, क्योंकि मुझे एक लैपटॉप लेना ही था सरकार से। और फिर 2014 में मेरा मैट्रिक एग्जाम हो गया और आप सब के आशीर्वाद से 2015 में मुझे एक लैपटॉप मिल गया। 

पैसे की कमी महसूस होने से ऑनलाइन पर ढूंढा था कि पैसे कैसे कमाया जाए पैसे कैसे कमाया जाए, ढूंढते-ढूंढते आखिरकार YouTube पकड़ लिया और फिर ब्लॉगिंग, अब तो और भी बहुत कुछ आ गया।

इंटरनेट की दुनिया में मेरा सफर शुरू हुई है 2012 से लेकिन दूसरे के मोबाइल से 2013 तक और फिर 2014 में मेरे घर में एक मोबाइल आया जोकि घर में था मेरा नहीं था और 2015 से तो आपको पता ही है।

ब्लॉगिंग का Idea मेरे दिमाग में आया था 2017 में, मुझे पूरा एक साल लग गया इसके ऊपर कुछ रिसर्च करने में और मैं फाइनली 2018 में ब्लॉगिंग शुरू कर दिया।

मेरी तरफ से एक छोटा सा मैसेज आप सबके लिए:
               ''जो दिल में आए वह करो, किसी का देखकर मत करो, जिस में इंटरेस्ट हो वही करो, आपका खुद का हिम्मत दुनिया की हिम्मत हैं, अब अकेले पूरी दुनिया को हिला सकते हो, अगर आप खुद पर यकीन करते हैं तो। हमेशा अपने दिल की सुनो दिमाग की नहीं और जितना हो सके अपने आसपास के लोगों की मदद करो क्योंकि लोगों की मदद करने से आपको ब्लेसिंग मिलता है और दुनिया में माना जाता है कि आशीर्वाद सबसे बड़ी चीज होता है।''


दोस्तों कृपया नीचे कमेंट करना ना भूलें, मैं आपका हर क्वेश्चन का जवाब दूंगा

No comments:

Powered by Blogger.