क्या BJP कार्यकर्ता Kapil Mishra दिल्ली हिंसा के पीछे है?

जैसे की हम सभी को पता है 2002 में गुजरात में कैसा माहौल बना था लेकिन ऐसा ही नजारा अब दिल्ली में भी देखने को मिल रहा है इसके पीछे क्या कारण हो सकता है और कैसे यह माहौल बन गयी?  ऐसे तमाम सवाल उठते है।

By: Aayan
Is BJP worker Kapil Mishra behind Delhi violence?
Viral Photo of  twitter
इस वक्त हमारे देश की इकोनॉमी की स्थिति जिस हालात में है, अगर उसी टाइम ऐसे ही हिंसा के माहौल पैदा होता है जहा हजारों दुकानें, गाड़ियां, घर तोड़ता है तो आप अंदाजा लगाओ कि अपने देश की इकोनॉमी किस हद तक गिर सकता है।

ऐसे ही एक नजारा हमें मिला था 2002 में गुजरात दंगा से जहां पर सैकड़ों लोगों की मौत हुई थी और करोड़ों रुपए लोस्स हुआ था, जिसका भरपाई आज भी लोग नहीं कर पाया है।



Delhi News Update: 24 February 2020, सोमवार से दिल्ली में दंगाई की शुरू हुई. अब तक दिल्ली में 17 लोगों की मौत हो चुकी है और अनगिनत लोग घायल हुआ है, जिसकी हॉस्पिटल में ट्रीटमेंट हो रहा है।

ऐसे बहुत सारे वीडियो सामने आया है जहां पर लोग दिखा रहा है अपनी दुकानें, घर,  गाड़ियां कैसे चल रहा है, कई न्यूज़ चैनल ने जाकर इंटरव्यू लिया है और वहां पर बताया गया कि उनकी जिंदगी भर की कमाई की दुकान थी जिसे आग लगा दिया गया, घरों को तोड़ा गया।

ऐसे में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल होता है जहां से कपिल मिश्रा नाम के लोग ने यह बताता है कि अगर शाहीन बाग के प्रोटेस्ट करि लोग यह प्रोटेस्ट बंद नहीं करते हैं तो डोनाल्ड ट्रंप जाने तक हम चुप रहेंगे उसके बाद हम रास्ते पर आकर किसी भी हालत में प्रोटेस्ट नाकामयाब करेंगे।



उस बयान के बाद दिल्ली के कई जगह में हिंसा के शुरू होता है लेकिन एक फोटो खूब viral होता है, जहां पर एक मुस्लिम को कई लोगों ने मिलकर खूब मार रहे हैं जिस फोटो को दुनिया की बड़ी बड़ी मैगजीन, न्यूज़पेपर भी पब्लिश्ड करा है। जहां पर भारत के हिंदुओं की बड़ी चर्चा की गयी है और यह हमारे लिए शर्म की बात है।

लेकिन इसके बाद सोशल मीडिया पर एक सवाल खूब दोहरा रहा है की, क्या BJP कार्यकर्ता Kapil Mishra दिल्ली हिंसा के पीछे है?

दिल्ली हाईकोर्ट ने बताया (on 26 February) है कि 'Kapil Mishra' ने हेट स्पीच दिया था, उसे ऐसा बिलकुल नहीं करना चाहिए था। इस दौरान अपोजिशन पार्टी के लोग 'कपिल मिश्रा' को खूब ब्लेम कर रहे हैं कि उसने हिंसा को बढ़ने दिया है।

उसी की बयान के बाद हिंसा शुरू हुई है, ऐसे और भी कई सारे बात अब सोशल मीडिया पर चल रहा है लेकिन अगर इसका इन्वेस्टिगेशन होता है तभी पता चलेगा की दिल्ली हिंसा के पीछे किसका हाथ है?




1 comment:

Powered by Blogger.